Saturday, October 12, 2019

वाहन की स्टीयरिंग सिस्टम - Vehicle steering system

नमस्कार दोस्तों हम आपका हमारी वेबसाइट पर स्वागत करते हैं। आज इस लेख में हम आपको "वाहन के स्टीयरिंग सिस्टम" के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। वाहन स्टीयरिंग प्रणाली जो वाहन का सबसे महत्वपूर्ण घटक है, इस प्रणाली के माध्यम से, वाहन को अपनी इच्छा के अनुसार किसी भी दिशा में चलाया जा सकता है। इसलिए यह वाहन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यदि आप वाहन स्टीयरिंग प्रणाली से संबंधित अधिक जानकारी चाहते हैं, तो इस लेख को अंत तक पढ़ें। (What is Vehicle steering System in Hindi)



वाहन की स्टीयरिंग सिस्टम


इस लेख में आप जानेंगे कि वाहन की स्टीयरिंग प्रणाली क्या है? और यह वाहन में कहा होता है। वाहन का स्टीयरिंग सिस्टम किस प्रकार का है? इससे जुड़ी जानकारी। साथ ही, वाहन की स्टीयरिंग प्रणाली से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी इस लेख के माध्यम से हिंदी में प्रस्तुत की जा रही है। खुशी है कि आप सभी पाठकों को यह लेख पसंद आएगा।

वाहन की स्टीयरिंग सिस्टम क्या है (What is the vheikal stiaring system)


आज दुनिया में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है जिसने किसी वाहन में यात्रा न की हो, आजकल अधिकतर लोगों के पास वाहन होना स्वाभाविक है। यदि आपने कोई वाहन देखा है या आपने उसमें यात्रा की है, तो आपने एक बात अनुभव की होगी कि वाहन की दिशा को नियंत्रित करने के लिए वाहन स्टीयरिंग प्रणाली का उपयोग किया जाता है। क्योंकि वाहन को केवल मार्ग के अनुसार अलग-अलग दिशाओं में चलना होता है। जिसके लिए वाहन का स्टीयरिंग सबसे महत्वपूर्ण है।

वाहन का संपूर्ण स्टीयरिंग सिस्टम केवल एक स्टीयरिंग व्हील के आधार पर संचालित होता है, इसलिए यह कहना गलत नहीं है कि वाहन पूरी तरह से स्टीयरिंग व्हील द्वारा नियंत्रित होता है और वाहन की दिशा बदलता है। अधिकांश दो पहिया वाहन स्टीयरिंग प्रणाली के बजाय वाहन का मार्गदर्शन करने के लिए हैंडल का उपयोग करते हैं। इसलिए इसे हैंडल सिस्टम भी कहा जाता है। हालाँकि, हैंडल सिस्टम भी एक प्रकार का स्टीयरिंग सिस्टम है। इसलिए हम स्टीयरिंग प्रणाली के बारे में और जानकारी प्राप्त करने का प्रयास करेंगे।

स्टीयरिंग सिस्टम कैसे काम करता है? (How does the steering system work)


वाहन के स्टीयरिंग सिस्टम में विभिन्न घटक होते हैं, जिसके कारण संपूर्ण स्टीयरिंग सिस्टम काम करता है। ये घटक नट बोल्ट के माध्यम से वाहन में स्टीयरिंग व्हील से जुड़े होते हैं ताकि स्टीयरिंग व्हील ड्राइवर द्वारा नियंत्रित हो। वाहन का स्टीयरिंग सिस्टम किसी भी दिशा में वाहन के सामने के पहिये को मोड़ने का काम करता है। जिससे वाहन को किसी भी दिशा में घुमाया जा सके। वाहन के स्टीयरिंग सिस्टम में निम्नलिखित घटक होते हैं। (What is Vehicle steering System in Hindi)
  • स्टीयरिंग व्हील 
  • स्टीयरिंग कॉलम 
  • स्टीयरिंग गिअर बॉक्स 
  • ड्रॉप आर्म 
  • लिंक रॉड 
  • क्रैंक रॉड 
  • स्टीयरिंग आर्म 
  • नक़ल 
  • ड्रैग लाइन रॉड 


स्टीयरिंग सिस्टम की रचना (Steering system design)


वाहन में स्टीयरिंग गियर बॉक्स नट बोल्ट के माध्यम से चेसिस फ्रेम से जुड़ा हुआ है। ड्रॉप आर्म को स्टीयरिंग गियर बॉक्स के बाहर क्रॉस शाफ्ट में जोड़ा जाता है, ड्रॉप आर्म का एक टोकन गेंद और सॉकेट से रिसाव के साथ जुड़ा होता है। ड्रॉप आर्म का दूसरा हिस्सा स्ट्रील एक्सल से जुड़ा होता है और स्टीयरिंग आर्म को बॉल सॉकेट जॉइंट की मदद से टाईट किया जाता है। स्टीयरिंग आर्म के दाईं ओर कनेक्टिंग आर्म पर बांधने वाली छड़ का एक पैर बॉल जॉइंट और बॉल जॉइंट से टायरोड के बाईं ओर स्टीयरिंग आर्म से बंधा होता है। इस तरह का रचना (design) ज्यादातर स्टीयरिंग सिस्टम में किया जाता है।

स्टीयरिंग सिस्टम के प्रकार (types of Steering system)

अधिकांश स्टीयरिंग सिस्टम में दो प्रकार के स्टीयरिंग सिस्टम होते हैं। लेकिन आज के आधुनिक युग में, स्टीयरिंग सिस्टम में पावर स्टीयरिंग सिस्टम का उपयोग किया जाता है। तो हम आज के चलन में चल रहे पावर स्टीयरिंग के बारे में सीखते हैं। आधुनिक रूप से, पावर स्टीयरिंग में दो प्रकार के स्टीयरिंग सिस्टम का उपयोग किया जाता है।
  1. हायड्रोलिक पॉवर स्टीयरिंग 
  2. इलेक्ट्रिकल पॉवर स्टीयरिंग 



हाइड्रोलिक पावर स्टीयरिंग (Hydraulic power steering)


हाइड्रोलिक पावर स्टीयरिंग सिस्टम को मैकेनिकल पावर स्टीयरिंग सिस्टम भी कहा जाता है। यह स्टीयरिंग वाहन में हाइड्रोलिक पंप के माध्यम से काम करता है। हाइड्रोलिक पावर स्टीयरिंग सिस्टम में पावर वाहन के इंजन द्वारा वाहन के स्टीयरिंग के माध्यम से पहियों को संसाधित करने के लिए प्राप्त किया जाता है। इस प्रणाली में कई घटक होते हैं जैसे कि पंप, पुली, आयल जो इस प्रणाली में उपयोग किए जाते हैं। (What is Vehicle steering System in Hindi)

यह स्टीयरिंग सिस्टम बड़े और भारी वाहनों के लिए बढ़िया है क्योंकि इसमें भारी वाहन पहियों की दिशा बदलने की अच्छी क्षमता है, इसलिए यह सबसे भारी वाहनों में पाया जाता है। अगर कीमत की बात करें तो यह स्टीयरिंग सिस्टम इलेक्ट्रिक स्टीयरिंग सिस्टम से ज्यादा महंगा है। इस प्रणाली को ठीक करने में बहुत समय लगता है और साथ ही यह बहुत खर्चिक होता है। इसलिए इस प्रणाली का उपयोग छोटे वाहनों में कम किया जाता है।



इलेक्ट्रिकल पॉवर स्टीयरिंग (Electrical power steering)


इलेक्ट्रिकल पावर स्टीयरिंग यह हाइड्रोलिक पावर स्टीयरिंग के विपरीत है क्योंकि यह एक इलेक्ट्रिक मोटर द्वारा संचालित होता है। मोटर स्टीयरिंग को संचालित करने के लिए बैटरी से शक्ति लेता है और वाहन के स्टीयरिंग को संचालित करता है। यह सिस्टम मैकेनिकल स्टीयरिंग से कम खर्चीला है। इस प्रणाली में, कोई भी मैकेनिक सेंसर की मदद से गलती खोज सकता है। इसलिए यह बहुत आसान स्टीयरिंग सिस्टम है।

यह स्टीयरिंग सिस्टम बहुत अच्छा है क्योंकि ड्राइवर के स्टीयरिंग व्हील को घुमाए जाने पर चालक को कम ताकत लगानी पड़ती है। इस प्रणाली को सुनिश्चित करने के लिए इसमें कंप्यूटर मॉडल का उपयोग किया जाता है। ताकि यह सिस्टम की अच्छाई को प्रदर्शित कर सके। आप इस प्रकार के स्टीयरिंग सिस्टम को अधिकांश चार पहिया वाहनों में पा सकते हैं।


अनमोल शब्द

प्रिय पाठकों, हमें खुशी है कि यह लेख "स्टीयरिंग सिस्टम ऑफ व्हीकल" (What is Vehicle steering System in Hindi) कई लोगों के लिए उपयोगी साबित हुआ है। इसके अलावा, अगर किसी के पास इस लेख से संबंधित कोई प्रश्न है, तो वे हमें टिप्पणी करके पूछ सकते हैं। अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो इसे अपने परिचितों और सहपाठियों के साथ साझा करें।

धन्यवाद

No comments: