Tuesday, October 1, 2019

इंजन की ईंधन प्रणाली - Engine fuel system

नमस्कार दोस्तों, हम आपका हमारी वेबसाइट पर स्वागत करते हैं। यहां हम आपको "इंजन ईंधन प्रणाली" के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। अगर आप एक वाहन उपयोगकर्ता हैं तो यह लेख आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है। क्योंकि वाहन के इंजन में अलग-अलग घटक होते हैं, जो वाहन के टैंक से वाहन के इंजन तक ईंधन ले जाते हैं। यदि आप वाहन इंजन की ईंधन प्रणाली के बारे में अधिक जानकारी चाहते हैं, तो इस लेख को अंत तक पढ़ें। (Engine fuel system in hindi)



इंजन की ईंधन प्रणाली



आज इस लेख में हम जानेंगे कि वाहन के इंजन की ईंधन प्रणाली क्या है? वाहन के इंजन में ईंधन कैसे पहुँचाया जाता है? पेट्रोल इंजन की ईंधन प्रणाली और डीजल इंजन की ईंधन प्रणाली के बारे में भी जानकारी। इसके अलावा, वाहन के ईंधन प्रणाली से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी इस लेख के माध्यम से हिंदी में प्रस्तुत की जा रही है। खुशी है कि आप सभी को यह लेख पसंद आएगा।

इंजन की ईंधन प्रणाली क्या है - What is engine fuel system


ईंधन प्रणाली वाहन का सबसे महत्वपूर्ण घटक है, जिसमें पेट्रोल को वाहन के पेट्रोल टैंक से वाहन के इंजन तक पहुँचाया जाता है, जिससे वाहन संचालित होता है। उसके कारण, हम अपने वाहन को कुछ ही समय में एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचा सकते हैं। ईंधन प्रणाली में कई अलग-अलग घटक होते हैं जो वाहन के ईंधन टैंक से इंजन तक ईंधन परिवहन का कार्य करते हैं। आइये हम आगे उन घटकों के नाम जानेंगे।
  • इंधन टैंक 
  • होज पाइप 
  • फ्यूल पंप 
  • फ्यूल फ़िल्टर
  • फ्यूल गेज 
  • कार्ब्युरेटर 
  • फ्यूल इंजेक्टर 
  • एफ. आय. पंप 
  • नोजल 
  • एयर क्लीनर 
  • थ्रोटल व्होल्व्ह इत्यादि।

इंधन टैंक :- फ्यूल टैंक यह फ्यूल सिस्टम का पहला हिस्सा है। इसमें वाहन को चलाने के लिए ईंधन होता है। ताकि वाहन को संपादित किया जा सके। क्योंकि वाहन के ईंधन टैंक में ईंधन नहीं होने पर वाहन का संचालन नहीं किया जा सकता है। इसलिए इसमें इंधन होना आवश्यक है।

होज पाइप :- होज पाइप यह ईंधन प्रणाली का दूसरा घटक है। इसे वाहन में ईंधन टैंक के नीचे लगाया गया है। यह ईंधन टैंक से ईंधन पंप तक ईंधन परिवहन का महत्वपूर्ण कार्य करता है।

फ्यूल पंप :- ईंधन पंप होज पाइप के माध्यम से आने वाले ईंधन को इंजन के ईंधन फिल्टर तक पहुंचाने का काम करता है, जो ईंधन को और साफ करता है। (Engine fuel system in hindi)

फ्यूल फ़िल्टर :- यह घटकइंधन टैंक से आने वाले इंधन को फ़िल्टर करता है जिससे इंधन की कार्यशक्ति अधिक बढ़ जाती है। उसके बाद वह इंधन फ्यूल गेज, कार्ब्युरेटर, से फ्यूल इंजेक्टर तक पहोचता है।

फ्यूल इंजेक्टर :- फ्यूल इंजेक्टर फ़िल्टर होकर आने वाले अधिक शक्तिशाली इंधन को एफ.आय. पंप में इंजेक्ट करने का कार्य करता है। जिससे इंधन अच्छी तरह कार्य करने में सक्षम हो। उसके बाद यह इंधन थ्रोटल व्होल्व्ह से होकर इंजन के पिस्टन तक पहोचता है।

एयर क्लिनर :- यह घटक इंधन प्रणाली में हवा और इंधन का मिश्रण बनाने के लिए बाहर की हवा को शुद्ध करके शुद्ध हवा को इंजन के पिस्टन में इंधन के साथ प्रवाहित किया जाता है। इसमें हवा और इंधन का मिश्रण तैयार किया जाता है। यह सभी कार्य थ्रोटल व्होल्व्ह से निगडित होते है।

ईंधन प्रणाली के प्रकार (Types of fuel system)


ईंधन प्रणाली वाहन का सबसे महत्वपूर्ण घटक है। इसलिए वाहन में होना आवश्यक है। लेकिन जिस तरह दो अलग-अलग तरह के इंजन होते हैं, ठीक उसी तरह इंजन के फ्यूल सिस्टम भी दो प्रकार के होते है। वह निम्नलिखित है।
  1. पेट्रोल इंजन ईंधन प्रणाली 
  2. डीजल इंजन ईंधन प्रणाली 

पेट्रोल इंजन इंधन प्रणाली (Petrol engine fuel system)


जिस इंजन में इनटेक मैनिफोल्ड का इस्तेमाल पेट्रोल के दहन कक्ष तक पहुंचने के लिए किया जाता है उसे पेट्रोल इंजन का ईंधन सिस्टम कहा जाता है। इसमें पेट्रोल को टैंक से छोटे पाइपों के माध्यम से फिल्टर तक पहुंचाया जाता है और पेट्रोल को शुद्ध किया जाता है। (Engine fuel system in hindi)


शुद्ध पेट्रोल को एक छोटे पाइप के माध्यम से ईंधन पंप तक खींचा जाता है और पेट्रोल कार्बोरेटर में भेजा जाता है। कार्बोरेटर में हवा और पेट्रोल का मिश्रण तैयार होता है। ईंधन इंजन हेड से इंजन सिलेंडर तक जाता है और इस तरह पेट्रोल इंजन में ईंधन का दहन होता है। पेट्रोल इंजन की इंधन प्रणाली में निम्नलिखित घटक होते हैं।

पेट्रोल इंजन की इंधन प्रणाली के घटक : पेट्रोल टैंक, फ्यूल कॉक, होज पाइप, फ़िल्टर पंप, एयर क्लिनर, कार्ब्युरेटर, इनलेट मैनिफोल्ड, इंजेक्टर, एक्सास्ट मैनिफोल्ड, मफलर, इंजन।

डीजल इंजन ईंधन प्रणाली (Diesel engine fuel system)


डीजल इंजन की इंधन प्रणाली में डीजल कीचम्बर तक पहुचने के लिए नोजल काउपयोग किया जाता है उसे डीजल इंजन की इंधन प्रणाली काहा जाता है। इसमें डीजल को टैंक से खीचने के लिए फीड पंप का इस्तेमाल किया जाता है। उसके बाद फ़िल्टर के माध्यम से इंजेक्शन की ओर भेजता है। (Engine fuel system in hindi)

लेकिन जब फ़िल्टर में प्रेशर बढ़ता है तभी उसके साथ इंधन का प्रमाण बढ़ता है। यह बढ़ा हुआ इंधन वापस टैंक के पास जाता है। इंजेक्शन पंप फीड पंप के पास से इंधन लेता है। उसके बाद इंजेक्शन पंप का प्लंजर इंधन को इंजेक्टर के पास भेजता है और वह इंजेक्टर नोजल से इंजन सिलिंडर में भेजा जाता है। इस तरह की इंधन प्रणाली डीजल इंजन की इंधन प्रणाली में होता है।

डीजल इंजन की इंधन प्रणाली के घटक : डीजल टैंक,फीड पंप, फ़िल्टर पंप, एयर फ़िल्टर, एफ.आय. पंप, इंजेक्टर, एक्सोस्ट मनिफोल्ड, मफलर इत्यादि।

सुचना 

इस तरह पेट्रोल इंजन और डीजल इंजन में अलग-अलग ईंधन प्रणाली होती है। वाहन में ईंधन प्रणाली के सभी घटक सबसे महत्वपूर्ण हैं। यदि इंजन के ईंधन प्रणाली में कोई समस्या है, तो इसे तुरंत मरम्मत की जा सकती है। ऐसा करने में विफलता वाहन में कई अलग-अलग परेशानियों का कारण बन सकती है। इसलिए, वाहन के इंजन की ईंधन प्रणाली पर कोई बाधा नहीं है, इसलिए हमेशा इसका ध्यान रखें।



अनमोल शब्द

प्रिय पाठकों, हमें खुशी है कि यह लेख "इंजन की ईंधन प्रणाली" (Engine fuel system in hindi) आपके लिए बहुत उपयोगी साबित हुआ है। अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो इसे अपने परिचितों और सहपाठियों के साथ साझा करें।

धन्यवाद

No comments: