Thursday, August 29, 2019

ईंधन क्या है - What is fuel

प्रिय पाठकों, आज इस लेख में, ईंधन क्या है? इसके बारे में सभी आवश्यक जानकारी देने जा रहे हैं। यदि आप रसायन क्षेत्र में रुचि रखते हैं और "ईंधन" के बारे में जानना चाहते हैं, तो आप सही जगह पर हैं। क्योंकि इस लेख में हम आपको ईंधन और ईंधन से जुडी सभी जानकारी देंगे। अगर आप ईंधन से संबंधित अधिक जानकारी के लिए इस लेख को अंत तक पढ़ें। ( What is fuel in hindi.)



ईंधन क्या है

इस लेख में, हम जानेंगे कि ईंधन क्या है और ईंधन कैसे तैयार कीया जाता है? इसके बारे में। इसके अलावा ईंधन के प्रकार क्या है? ईंधन की गुणवत्ता क्या है? साथ ही, ईंधन ऊर्जा और ईंधन से संबंधित सभी जानकारी इस लेख के माध्यम से हिंदी में प्रस्तुत की गई है।

ईंधन क्या है? (What is fuel)

ईंधन एक ऐसा पदार्थ है जो ऑक्सीजन के साथ मिलाने के बाद गर्मी पैदा करता है। यह ताप विद्युत इंजन को शक्ति प्रदान करता है। जिसके माध्यम से आज आपको पूरे विश्व में वाहन चलते दिखाई देते हैं। ईंधन, हालांकि, रासायनिक, जीवाश्म और जैव पदार्थों से बनाया जाता है। लेकिन इस रासायनिक ईंधन का उपयोग ज्यादातर मोटर वाहनों में किया जाता है।

ईंधन को ज्वलनशील पदार्थ कहा जाता है। इस पदार्थ में कार्बन, मीथेन, कार्बन डाइऑक्साइड, ग्रेफाइट जैसे गुणसूत्र होते हैं, जो प्रज्वलन के बाद प्राप्त होते हैं। अधिकांश कार्बन प्राकृतिक ईंधनों में पाया जाता है। उदाहरण कोयला हैं, इनमें लिग्नाइट कोयला, पिट कोयला, एन्थ्रेसाइट कोयला और बिटुमिनस कोयला सहित चार प्रकार के कोयला शामिल हैं। ये सभी कोयला ईंधन बनाने के लिए अलग-अलग प्रतिशत कार्बन बनाते हैं।

ईंधन का उपयोग क्या है? (What is the use of fuel)

मनुष्य ज्यादातर अपनी दिनचर्या में ईंधन का उपयोग करते हैं। जिनमे तीन प्रकार के ईंधन हैं, जैसे अल्कोहोल, पेट्रोल डीजल और गैस। इसके अलावा वाहनों, कारखानों, कंपनियों और बड़ी मशीनों में भी ईंधन का उपयोग किया जाता है। लेकिन ईंधन का अत्यधिक उपयोग भी काफी हानिकारक हो सकता है क्योंकि यह प्रकृति को हानि पहुँचाता है। इसलिए, कम ईंधन का उपयोग करें। (What is fuel in hindi.)

ज्वलनशील पदार्थ होने के नाते ईंधन भी एक परिमित पदार्थ है। क्योंकि यह समय के साथ खत्म भी हो रहा है। इसलिए, यह आने वाली पीढ़ी के लिए बहुत हानिकारक हो सकता है। ईंधन बनाने में लंबा समय लगता है। जिसके कारण ईंधन की खान भी खत्म हो रही है। क्योंकि ईंधन भी एक प्राकृतिक उपहार ही है।

ईंधन के प्रकार (Types of fuel)

ईंधन एक सीमित पदार्थ है और साथ ही ऊर्जा शक्ति का एक स्रोत है। ईंधन तीन प्रकार के होते हैं। साथ ही, उनका मूल स्रोत भी तीन है। जिसमें रासायनिक, जैव और जीवाश्म शामिल हैं। आइए आगे जानते हैं ईंधन के प्रकार के बारे में।
  • सॉलिड फ्यूल 
  • लिक्विड फ्यूल 
  • गैस फ्यूल 
सॉलिड फ्यूल:- सॉलिड फ्यूल कम मात्रा में ऊष्मा उत्पन्न करते है। यह ईंधन जलने के बाद कार्बनडाय ऑक्साइड और कार्बन मोनो ऑक्साइड जैसे धुए का निर्माण करते है जिनकी मात्रा अधिक होती है। लकड़ी, चारकोल, कोयला, कोक, गोबर आदि, पदार्थो से निर्माण होने वाले ईंधन को सॉलिड फ्यूल कहा जाता है। सॉलिड ईंधन के ज्वलन होने के बाद राख बच जाती है। इसे सॉलिड फ्यूल की निशानी कहा जा सकता है। 

सॉलिड फ्यूल को घरेलू और खेती में भी उपयोग किया जाता है। 

लिक्विड फ्यूल:- लिक्विड फ्यूल ऐसे पदार्थ को कहा जाता है जिसके ज्वलन के बाद किसी प्रकार की राख नहीं बचती यह ईंधन द्रव रूप में पाया जाता है। साथ ही यह अधिक मात्रा में उष्मा का निर्माण करता है। लिक्विड ईंधन के रूप में पेट्रोल, डीजल, अल्कोहोल, घासलेट, केरोसिन, ऑइल होते है। इनका निर्माण पेट्रोलियम खुदाई के बाद किया जाता है। (What is fuel in hindi.)

लिक्विड फ्यूल का उपयोग वाहन, मशीन, कम्पनियो में किया जाता है। 



गैस फ्यूल:- गैस फ्यूल ज्यादातर घरेलु काम में उपयोग किया जाता है। यह काफी ज्वलनशील पदार्थ होता है। यह ईंधन ज्वलन प्रक्रिया में काफी आगे है। क्योकि यह उच्च दाब निर्माण कर बारीक़ चिंगारी से भी ऊष्मा तैयार करता है। गैस ईंधन को सरलता से एक स्थान से दूसरे स्थान पहुंचाया जा सकता है। इसे प्राकृतिक गैस भी कहा जाता है क्योकि यह प्रोपेन, हायड्रोजन, मेथेन जैसे वायु से निर्माण किया जाता है। यह ईंधन ज्वलन होने के बाद किसी प्रकार की निशानी नहीं छोड़ता। 

गैस फ्यूल का उपयोग घर, वाहन आदि के लिए भी किया जाता है।

ईंधन की गुणवत्ता क्या होनी चाहिए? (What should be the quality of fuel)

  • ईंधन में सबसे अच्छी थर्मल दक्षता और उच्च संचार प्रणाली होनी चाहिए। यह हर अच्छे और आदर्श ईंधन का पहला गुण है।
  • वह ईंधन आसानी से कहीं भी पाया जा सके। 
  • किसी भी ईंधन में हानिकारक गुणसूत्र नहीं होने चाहिए।
  • ईंधन की कीमत कम होनी चाहिए ताकि कोई भी उसे आसानी से खरीद सके। 
  • ईंधन में कार्बन की मात्रा एकदम सही होनी चाहिए। ताकि कोई नुकसान न हो।

ईंधन से किस प्रकार की ऊर्जा का उत्पादन किया जा सकता है? (What type of energy can be produced from fuel?)

ईंधन के माध्यम से कई प्रकार की अधातु ऊर्जा का उत्पादन किया जा सकता है। जैसे कि कार्बन, कार्बन डाइऑक्साइड, कार्बन मोनोऑक्साइड, आदि। यदि ईंधन कोयले जैसी सामग्री से बनाया जाता है, तो यह ईंधन कार्बन जैसी बहुत अधिक अधातु ऊर्जा का उत्पादन करता है।


 
अनमोल शब्द

प्रिय पाठकों, हमें ख़ुशी हैं कि ईंधन क्या है? (What is fuel in hindi.) इस लेख में दी गई जानकारी कई लोगों के लिए फायदेमंद साबित हुई है। अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो इसे अपने परिचितों और सहपाठियों के साथ साझा करें। इसके अलावा, यदि किसी के पास इस लेख से संबंधित कोई प्रश्न है, तो हम टिप्पणी करके पूछ सकते हैं।

धन्यवाद 

No comments: