Thursday, August 8, 2019

कॉर्पोरेट लॉ क्या है - What is corporate law in hindi

प्रिय पाठकों, आज, हम इस लेख में बताएंगे कि कॉरपोरेट लॉ क्या है? आपने लॉ के बारे में सुना ही होगा। लेकिन क्या जानते हैं कि कॉर्पोरेट लॉ क्या है? यदि आप नहीं जानते हैं, तो इस लेख के माध्यम से हम कॉर्पोरेट लॉ के बारे में सारी जानकारी देंगे, इस लेख के बारे में अधिक जानकारी के लिए, इस लेख की अंतिम पंक्ति तक बने रहें। (What is corporate law in hindi.)

 
कॉर्पोरेट लॉ क्या है

इस लेख में जानेंगे कि कॉर्पोरेट लॉ क्या है और इसके लिए क्या किया जा सकता है? इसके अलावा कॉर्पोरेट लॉ का अध्ययन कैसे करें? कॉरपोरेट लॉ के लिए क्या योग्यताएं हैं और इसमें कितने नौकरी के विकल्प उपलब्ध हैं, यह सब जानकारी इस लेख के माध्यम से हिंदी में प्रस्तुत की जा रही है।

व्यवसाय के क्षेत्र में कॉर्पोरेटर लॉयर की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका है, किसी भी व्यवसाय को शुरू करने से पहले लॉयर से परामर्श करना आवश्यक है। क्योंकि किसी भी व्यवसाय या कंपनी को शुरू करने के लिए कुछ कानूनी कार्रवाई करना आवश्यक है। इस सारे काम को देखने के लिए एक कॉर्पोरेट वकील की आवश्यकता होती है। आइए आगे जानते हैं कि कॉरपोरेट लॉ क्या है? इसके बारे में।

कॉर्पोरेट लॉयर क्या है - What is corporate law in hindi

कॉर्पोरेटर लॉयर व्यवसाय के क्षेत्रों में कार्य करता है। किसी भी कंपनी की स्थापना से लेकर कानूनी कार्रवाई के जरिए उसकी प्रगति तक का पूरा काम कॉर्पोरटर लॉयर द्वारा ही किया जाता है। क्योंकि कंपनियों को शुरू से उसकी चलन तक कई कानूनी कार्रवाइयों से गुजरना पड़ता है। इन कार्यों से बचने के लिए, केवल कॉर्पोरटर वकील ही सलाह देता है। कॉर्पोरल लॉयर को दूसरे शब्द में बिजनेस लॉयर भी कहा जाता है।


अगर आप कॉर्पोरेट वकील बनना चाहते हैं तो आपके पास कॉर्पोरेटर कानून से जुड़ी सारी जानकारी होनी चाहिए। क्योंकि कॉर्पोरेटर कंपनी के लिए बहुत जोखिम भरा काम करना पड़ता है। उसे कानूनी कार्यवाही से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी रखनी आवश्यक होता है। वह सरकारी कार्यवाही के सभी सवालों के जवाब देने के लिए काम करता है। वह कानूनी सीमाओं और अधिकारों पर कंपनियों और कार्यकर्ता समूहों को भी सलाह देता है।

कॉर्पोरटर लॉयर योग्यताए

12 वीं कक्षा पास करने के बाद ही वकील बनने की तैयारी कर सकते हैं। जो लोग कानून में रुचि रखते हैं वे 12 वीं के बाद बीए एलएलबी या बीबीए एलएलबी कर सकते हैं। इसके अलावा आप तीन साल का एलएलबी ग्रेजुएशन कर सकते हैं। अगर आप कॉरपोरेट लॉ को अपना पेशा बनाना चाहते हैं, तो आप कानून में पांच साल की डिग्री हासिल करके भी अपना करियर बना सकते हैं।

कॉर्पोरटर लॉ के लिए रोजगार के विकल्प - What is corporate law in hindi

आपको बता दें कि शुरू में एक उम्मीदवार के अच्छे करियर के लिए जज या वकील के केवल दो ही विकल्प थे जिन्होंने लॉ की शिक्षा प्राप्त की हो। लेकिन आज भारत सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं के माध्यम से नई नई बहुराष्ट्रीय कंपनियां बनाई जा रही हैं।जिनके प्रगति के लिए कॉर्पोरेटर लॉयर की तलाश की जा रही है। उनके कुछ उदाहरण नीचे दिए गए हैं।
  • मेक इन इंडिया द्वारा शुरू की जाने वाली कंपनिया 
  • स्टार्ट अप द्वारा शुरू की गई कमपनिया
  • भारतीय फ़र्म 
  • कॉर्पोरटर हाउसेस 
  • पब्लिक सेक्टर यूनिट्स 
  • आर्मी 
  • ट्रिब्यूनल मिडिया
  • न्यूज़ पेपर्स 
  • रेगुलेटरी बॉडीज

इसके अलावा आज भारत के हर कंपनी एवं संस्थानो में कार्पोरेटर लॉयर्स काफी मांग की जा रही है। पिछले दो सालो में कॉर्पोरटर लॉयर्स की जॉब में काफी काफी वृद्धि हुई है।

कार्पोरेटर लॉ के लिए संस्थान एवं यूनिवर्सिटी
  • चाणक्य नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी (पटना)
  • फैकल्टी ऑफ़ लॉ यूनिवर्सिटी (दिल्ली)
  • ज्यूडिशनल अकादमी (असम)
  • नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ़ स्टडी रिसर्च इन लॉ. (रांची)
  • नेशनल लॉ युनिवेर्सिटी (दिल्ली)
  • नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी (असम)
कॉर्पोरेट लॉयर का वेतन - What is corporate law in hindi

आपको बता दें, कॉर्पोरेट वकील का वेतन अलग होता है। यदि कानूनी सेल के माध्यम से एक वकील का वेतन देखा जाता है, तो वार्षिक वेतन 1 लाख 90 हजार से 2 लाख 45 हजार तक होता है। लेकिन अगर देखा जाए तो कानूनी वेतन के हिसाब से वेतन बढ़ रहा है। लेकिन इस फील्ड में आने के बाद कोई भी वकील अपने दिमाग से अच्छा पैसा कमा सकता है।


 
अनमोल शब्द

प्रिय पाठकों, हमें खुशी है कि आप इस लेख में दिए गए कॉर्पोरेट कानून से संबंधित जानकारी से सहमत हैं। अगर आपको यह लेख पसंद आया तो इस लेख को अपने परिचितों और सहपाठियों के साथ साझा करें। इसके अलावा, यदि किसी के पास इस लेख से संबंधित कोई प्रश्न या सुझाव है, तो हमें टिप्पणी करके पूछ सकते हैं।

धन्यवाद

No comments: