Tuesday, August 20, 2019

साइन लैंग्वेज में करियर कैसे बनाएं - How to make a career in sign language

प्रिय छात्रों, आज हम इस लेख में "साइन लैंग्वेज में करियर कैसे बनाएं" (Sign language me career kaise banaye .) इसके बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। अगर आप भविष्य में अच्छा पैसा कमाकर अपने भविष्य को सफल बनाना चाहते हैं, तो आप सही जगह पर आए हैं। आज हम आपके लिए एक ऐसा करियर विकल्प लेकर आए हैं, जिसके जरिए आप अच्छे पैसे के साथ अच्छा नाम भी कमाएंगे। साइन लैंग्वेज के कैरियर विकल्प के बारे में अधिक जानकारी जानने के लिए इस लेख को जरुर पढ़ें। (How to make a career in sign language in hindi.)



साइन लैंग्वेज में करियर कैसे बनाएं

इस लेख में जानेंगे की साइन लैंग्वेज में करियर कैसे बनाएं? किन जगहों पर ज्यादा है मांग? साइन लैंग्वेज में किन विभागों में नौकरियां हैं? साथ ही, साइन लैंग्वेज के अध्ययन के तरीके और साइन लैंग्वेज का क्या महत्व है? इस लेख से संबंधित सभी जानकारी हिंदी में प्रस्तुत की जा रही है।

साइन लैंग्वेज में करियर कैसे बनाएं - How to make a career in sign language

प्रिय छात्रों, आपने हाथ के इशारों और आंखों के इशारों के साथ सामने वाले व्यक्ति के साथ कई बार बात की होगी। और इन इशारों को साइन लैंग्वेज कहा जाता है। आप और हम इन इशारों को बचपन में कई बार करते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि क्या आप इन इशारों के माध्यम से भी अच्छा भविष्य बना सकते हैं? यदि आप जीवन में सफल होने के लिए कुछ नया करना चाहते हैं, तो आपके लिए साइन लैंग्वेज फील्ड का चयन करना उचित होगा।

साइन लैंग्वेज सीखने के बाद आपको बहुत सारे अच्छे काम के अवसर मिलेंगे और जिसके कारण आपका एक अच्छा नाम भी होगा। तो चलिए जानते हैं "साइन लैंग्वेज में करियर कैसे बनाएं"


साइन लैंग्वेज का महत्व - Importance of sign language

बहुत से लोग सांकेतिक भाषा के महत्व के बारे में नहीं जानते हैं, लेकिन आज इस लेख के माध्यम से आपको साइन लैंग्वेज के महत्व के बारे में बताया जा रहा है। उन व्यक्तियों को जानना महत्वपूर्ण है जो इस क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं।
  • मूक बधिर छात्रों के साथ साइन लैंग्वेज में अनुवाद करना।
  • मूक बधिर छात्र साइन लैंग्वेज सीखकर दुनिया के साथ कदम से कदम मिलाकर चलना सीख सके।
  • मूक-बधिर छात्रों को समाज में उचित स्थान देना।

छात्रों की पढ़ाई कैसे होती है - How to make a career in sign language

मूक-बधिर छात्रों को साइन लैंग्वेज सिखाना बहुत महत्वपूर्ण है। ताकि वह प्रतिस्पर्धा के युग में दुनिया के साथ कदम से कदम मिलाकर चल सके। छात्रों को साइन लैंग्वेज सिखाने के कुछ विशेष तरीके हैं। पहला मौखिक संवाद और दूसरा इंडियन साइन लैंग्वेज है। 
  • मौखिक संवाद :- मौखिक संवाद सामने वाले व्यक्ति को लिखित रूप में सूचित किए जाते हैं। और सामने वाला व्यक्ति भी अपना जवाब लिखित में देता है। तो इसे मौखिक संवाद कहा जाता है।
  •  इंडियन साइन लैंग्वेज :-इंडियन साइन लैंग्वेज यह एक शब्दकोश है जिसके माध्यम से मूक-बधिर छात्रों को सिखाया जाता है कि उन्हें कैसे समझना और बोलना है। इस शब्दकोश में कम से कम 2500 से 3000 प्रतीकात्मक चिन्ह हैं। इन प्रतीकों के माध्यम से मूक-बधिर छात्रों को पढ़ाया जाता है।शब्दकोश का सबसे बड़ा उद्देश्य मूक-बधिर छात्रों के लिए आम छात्रों के साथ संवाद करना आसान बनाना है।

 संकेतो को कैसे सीखें - How to make a career in sign language

साइन लैंग्वेज में करियर बनाने के लिए, आपको संकेतो का अच्छी तरह से अध्ययन करना होगा। इन संकेतों का कोर्स 3 से 4 महीने का होता है, इन पाठ्यक्रमों के बीच, आपको इन संकेतों को सीखने की प्रक्रिया बताई जाती है, जिनका आपको पालन करना होगा।
  • कक्षा में आप जिन संकेतों का अध्ययन करेंगे, उनका दैनिक अभ्यास करना होगा।
  • इन संकेतों की मूल जानकारी पूर्ण होनी चाहिए।
  • एक व्यक्ति के सामने संकेतों का अभ्यास करें जो उन संकेतों को अच्छी तरह से समझता है।
  • संकेत के अभ्यास के दौरान, अपना एक वीडियो बनाएं, ताकि आपको पता चले कि आप कौन से संकेत का गलत उत्तर दे रहे हैं। और जीन संकेतों पर आप जो गलत कर रहे हैं उसका अभ्यास करें।

साइन लैंग्वेज सीखने के बाद रोजगार के अवसर

साइन लैंग्वेज अच्छी तरह से सीखने के बाद, आपको नौकरी के कई अवसर मिलते हैं। इसके अलावा, देश के साथ-साथ विदेशों में भी नौकरी के अवसर प्रदान किए जाते हैं। यदि आप साइन लैंग्वेज फील्ड में पेशेवर बन गए हैं, तो आपको बहुत ही आसानी से निम्न क्षेत्र में नौकरी मिल जाएगी। तो आइए जानते हैं उन क्षेत्रों के बारे में।
  • मूक-बधिर सरकारी संस्थानों में आपको शिक्षक के रूप में नौकरी मिलेगी।
  • आपको मेंटल हेल्थ केयर सेंटर में भी नौकरी मिलेगी।
  • आप स्वैच्छिक संगठनों में भी काम कर सकते हैं।

साइन लैंग्वेज क्षेत्र में वेतन - How to make a career in sign language

साइन लैंग्वेज में पेशेवर बनने के बाद, आपको इस क्षेत्र में अच्छा वेतन मिलेगा, जिसके माध्यम से आपका भविष्य सफल होगा। वेतन के साथ, इस क्षेत्र में काम करने के बाद आपका बहुत उच्च नाम होगा। इस फील्ड में आपको कम से कम 20 से 25 हजार रुपये सैलरी मिलेगी। अगर आप विदेश में नौकरी के लिए चुने जाते हैं तो आपको बहुत अच्छा वेतन मिलेगा।

साइन लैंग्वेज शैक्षणिक संस्थानों का नाम - Name of sign language educational institutes

साइन लैंग्वेज में करियर बनाने के लिए आपको इसका अध्ययन करना होगा। अध्ययन करने के लिए, आपको इस क्षेत्र के शैक्षणिक संस्थानों में दाखिला लेना होगा ताकि आप साइन लैंग्वेज फील्ड के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर सकें। हम आपको साइन लैंग्वेज क्षेत्र में कुछ शिक्षण संस्थानों के नाम बताने जा रहे हैं, जिसके माध्यम से आप इस क्षेत्र में अध्ययन कर सकेंगे।
  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, दिल्ली।
  • अली यावर जंग नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर द हियरिंग हैंडीकैप, मुंबई।
  • रामकृष्ण मिशन विवेकानंद विश्वविद्यालय, कोयंबटूर।

 
अनमोल शब्द 
प्रिय पाठकों, हम आशा करते हैं कि आप सभी को "साइन लैंग्वेज में करियर कैसे बनाएं" के बारे में सभी जानकारी मिल गई होगी। यदि यह लेख आपके लिए फायदेमंद साबित होता है, तो इस लेख को अपने परिचितों और सहपाठियों के साथ साझा करें। इसके अलावा, कृपया इस लेख से संबंधित किसी भी प्रश्न या सुझाव के साथ हमें टिप्पणी करें।
धन्यवाद

No comments: