Friday, August 9, 2019

राजनीतिक संचार में कैरियर कैसे बनाया जाए - How to make a career in political communication

आज, इस लेख के माध्यम से, Rajnitik sanchar me kariyar kaise banaye इसके बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। क्या जानते हैं कि कई संस्थानों में राजनीति संचार से जुड़े डिप्लोमा और डिग्री कोर्सेस भी कराए जाते हैं। राजनीति में कैरियर इस लेख से संबंधित अधिक जानकारी के लिए, इस लेख को अंतिम पंक्ति तक पढ़ें। (How to make a career in political communication in hindi.)



राजनीतिक संचार में कैरियर कैसे बनाया जाए

इस लेख में आप जानेंगे कि राजनीति में करियर कैसे बनाया जाता है और इसकी योग्यता क्या है? साथ ही राजनीतिक संचार के बारे में जानकारी? राजनीति में करियर बनाने के लिए आपको क्या अध्ययन करना चाहिए? राजनीतिक अध्ययन के लिए कौन से संस्थान हैं? इसके अलावा, राजनीतिक संचार में कैरियर विकल्पों से संबंधित सभी जानकारी हिंदी में इस लेख के माध्यम से प्रस्तुत की जा रही है।

राजनीति यह समाज और देश में चल रहे सभी कार्यों के लिए अच्छे कार्यों के आगमन का प्रतीक है। राजनीति शिक्षा प्राप्त करने वाला छात्र नीति, शासन और आम जनता की बुद्धिमत्ता को एक नया मोड़ देने का काम करता है, इसके लिए मीडिया की भूमिका और उसके संचार के बारे में अध्ययन करता है। क्योंकि राजनीतिक संचार मानव समाज का सुनियोजित तंत्र है।

राजनितिक संचार की जानकारी -How to make a career in political communication in hindi.

राजनीति के क्षेत्र में कई नेता हैं, जो दुर्भाग्य से शिक्षित नहीं हैं। लेकिन कम्युनिकेशन स्किल के अनुसार आज भारतीय राजनीति में कई नेता शिक्षित भी हैं। राजनीति विज्ञान यह दर्शाता है कि यह विधि लोक प्रशासन की सहभागिता से भी संबंधित है। इसलिए, इस विषय के लिए चुनने वाले छात्रों की संख्या भी दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है।


राजनीति विज्ञान पढ़ने वाले छात्रों की संख्या में वृद्धि के कारण, राजनीति में भी कई अवसर हैं। जो छात्र इस क्षेत्र में अध्ययन कर रहे हैं वे न केवल राजनीति में बल्कि मीडिया जैसे अच्छे क्षेत्रों में भी अपना करियर बना सकते हैं। लेकिन राजनीतिक क्षेत्र में भी अलग-अलग विकल्प हैं, हम उनके बारे में आगे जानेंगे।

पॉलिटिकल काम्मुनिकेशन की योग्यताए - Qualifications for political communication

भारत में कई संस्थान और विश्वविद्यालय हैं जो राजनीतिक संचार के अध्ययन के लिए प्रवेश करवाते हैं। लेकिन इसके लिए छात्र को किसी भी विषय में 12 वीं कक्षा पूरी करना आवश्यक है। यदि छात्र 12 पास है और राजनीति में रुचि रखता है, तो वह 12 वीं के बाद स्नातक के लिए राजनीति विज्ञान विषय चुन सकता है। स्नातक के बाद, वह किसी भी विषय में एमफिल या पीएचडी भी कर सकता हैं।

आप इन विषयों से अध्ययन कर सकते हैं - How to make a career in political communication in hindi.

  • पब्लिक एड्मिनिष्ट्रेशन 
  • एलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स 
  • पोलटिकल साइंस 
  • लोकल गवर्नेंस 
  • पब्लिक पॉलिसी 
  • इंटरनेशनल रिलेशन्स 
👇 इसे अवश्य पढ़े 
👉 कॉर्पोरेट लॉयर क्या है
👉 यात्रा में प्लेटफ़ॉर्म टिकट का उपयोग करना सीखें . 
👉 अपनी हॉबी के जरिए अच्छा पैसा कमाए


पॉलिटिकल एग्जाम यूनिवर्सिटी 

  • द इंडियन स्कूल ऑफ कम्मुनिकेशन एंड रेपुटेशन (गुडगाँव)
  • पंजाब यूनिवर्सिटी 
  • हिन्दू यूनिवर्सिटी (बनारस)
  • जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी
  • श्री राम कॉलेज फॉर वुमन 
  • हैदराबाद यूनिवर्सिटी 
  • कलकत्ता यूनिवर्सिटी 

राजनीतिक संचार में नौकरी विकल्प - Rajnitik sanchar me kariyar kaise banaye

राजनीतिक संचार का अध्ययन करने के बाद, यदि आप राजनीति विज्ञान में अच्छे हैं तो आप भी विधायक या नेता बन सकते हैं। लेकिन अगर आप राजनीतिक संचार के माध्यम से दूसरे क्षेत्र में जाना चाहते हैं, तो भी आप दूसरे क्षेत्र में नौकरी पा सकते हैं। वह निम्नलिखित है।
  • बिसनेस एडमिनिस्ट्रेटर 
  • पब्लिक सर्विस अफेयर्स 
  • ओपिनियन अनालिष्ट 
  • पोलिटिकल राइटर 
  • मिडिया ग्रुप 
  • पुलिस अधिकारी 

 
अनमोल शब्द

प्रिय पाठकों, हम इस लेख में दी गई जानकारी से सहमत हैं। अगर आपको यह लेख पसंद आया है, तो इस लेख को अपने परिचितों और सहपाठियों के साथ साझा करें। इसके अलावा, यदि आपके पास इस लेख से संबंधित कोई प्रश्न या सुझाव है, तो कृपया हमें टिप्पणी करें।

धन्यवाद

No comments: