Tuesday, June 25, 2019

डिजिटल बैंकिंग के प्रकारों के बारे में अधिक जानें - Learn more about the types of digital banking

डिजिटल बैंकिंग का उपयोग कैसे किया जाता है। डिजिटल बैंकिंग कितने प्रकार की होती है। डिजिटल बैंकिंग क्या है? क्या डिजिटल बैंकिंग आम नागरिकों के लिए उपयोगी है? (What is digital banking?)



डिजिटल बैंकिंग के प्रकारों के बारे में अधिक जानें

दोस्तों आज का युग एक डिजिटल युग है और हम सभी के लिए बहुत उपयोगी साबित हो रहा है। डिजिटल दुनिया के बारे में जानने के लिए भी बहुत कुछ है। इसी तरह आज हम डिजिटल पर एक लेख प्रदर्शित करने जा रहे हैं। क्या आप सभी डिजिटल बैंकिंग के बारे में जानते हैं? नहीं जानते न तो आज हम इस लेख के माध्यम से कुछ मुख्य प्रकार के डिजिटल बैंकिंग के बारे में बताने जा रहे। ऊपर दी गई जानकारी जानने के लिए कृपया इस लेख को ध्यान से पढ़ें।

डिजिटल बैंकिंग क्या है? - What is digital banking?

डिजिटल बैंकिंग एक ऐसी सुविधा है जो आम जनता को घर बैठे उपलब्ध होती है। डिजिटल बैंकिंग से आप घर पर कई काम आराम से कर सकते हैं। डिजिटल बैंकिंग का उपयोग मोबाइल, लैपटॉप और कंप्यूटर पर बैठकर आसानी से किया जाना चाहिए, इसलिए सरकार द्वारा डिजिटल बैंकिंग शुरू की गई है। डिजिटल बैंकिंग को नेट बैंकिंग, इंटरनेट बैंकिंग और ऑनलाइन बैंकिंग जैसे कई नामों से जाना जाता है।

डिजिटल बैंकिंग में क्या काम किए जाते हैं?
  • खाते की शेष राशि की जांच कर सकते हैं। 
  • आप डिजिटल बैंकिंग से खरीदारी कर सकते हैं।
  • डिजिटल बैंकिंग से बिल भुगतान भी कर सकते हैं। 
  • अपने खाते का विवरण पीडीएफ प्रारूप में डाउनलोड कर सकते हैं।
डिजिटल बैंकिंग के प्रकार के बारे जाने

एटीएम कार्ड बैंकिंग :- ATM Card Banking

ATM (ऑटोमेटिक टेलर मशीन) यह एक बैंक द्वारा उपलब्ध कराई गई मशीन है। जिसमें हम एटीएम कार्ड का उपयोग करते हैं। आपने एटीएम में पैसे निकालने और डालने के लिए कई बार लोगों को कतार में देखा होगा। एटीएम के माध्यम से, अधिकांश लोग अपने आर्थिक व्यवहार का भुगतान करते हैं। यदि आपके पास नकदी नहीं है, तो आप एटीएम कार्ड से भुगतान कर सकते हैं और भुगतान के बाद भुगतान की रशीद ले, ताकि आप जान सकें कि आपने कितने का भुगतान किया है। इसके साथ आप पेट्रोल पंप दुकान और अन्य कई जगह एटीएम कार्ड से भुगतान कर सकते है।

रूपए कार्ड, वीजा कार्ड, मास्टर कार्ड और प्लैटिनम कार्ड जैसे विभिन्न प्रकार के एटीएम कार्ड हैं। इस कार्ड का उपयोग करने की सीमा अलग है और इस कार्ड का उपयोग विभिन्न क्षेत्रों में किया जाता है। जैसे की आप किसी shoping माल में जाते है और कोई चीज खरीदते है और एटीएम कार्ड से भुगतान करते है तो आपको वहा कुछ % कॅश बेक मिलता है। ATM Card द्वारा भुगतान करना बहुत फायदेमंद होता है, जिसके कारण नकद राशी खोने का डर नहीं होता है, क्योंकि ATM कार्ड का आकार नकद राशि के अनुसार छोटा होता है और इसे आसानी से कही पर भी ले जा सकते हैं।


इंटरनेट बैंकिंग :- Internet banking

इंटरनेट बैंकिंग क्या है और इसका उपयोग कैसे किया जाता है? यह सवाल आपके मन में कई बार उठा होगा। तो आइए जानते हैं इंटरनेट बैंकिंग के बारे में, यह एक ऐसी बैंकिंग है, जो बैंक के बहुत से कामों के लिए एक माध्यम है। जिसके कारण ग्राहक को शाखा में नहीं जाना पड़ता है। अगर आपके पास स्मार्टफोन, लैपटॉप और कंप्यूटर हैं, तो आप ईनके माध्यम से इंटरनेट बैंकिंग के सभी काम कर सकते हैं। यदि आपके पास एक यूजर नेम और पासवर्ड है, तो आप आसानी से इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग कर सकते हैं।

इंटरनेट बैंकिंग के लिए, आपको ऑनलाइन पंजीकरण करना होगा या आप अपनी निकटतम शाखा से सहायता ले सकते हैं। पंजीकरण करने के बाद, यदि आपको Username और password मिलता है, तो इसे अपनी डायरी में लिखकर रखें ताकि यह हमेशा याद रहे। ध्यान रखें कि आप अपना पासवर्ड न भूलें, लेकिन अगर आप भूल जाते हैं तो डरने की कोई बात नहीं है, आप फिर से पासवर्ड बना सकते हैं।

इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करने के तरीके

दोस्तों, अगर आपने इंटरनेट बैंकिंग के लिए पंजीकरण कर लिया है और आपको User name और Password मिल गया है, तो चलिए इंटरनेट बैंकिंग के निम्नलिखित तरीकों के बारे में जानते हैं।
  • सबसे पहले अपने स्मार्टफोन में इंटरनेट बैंकिंग एप्लिकेशन इंस्टॉल करें। 
  • इंस्टॉल हो जाने के बाद, उस एप्लिकेशन को खोलें।
  • इंटरनेट बैंकिंग के एप्लीकेशन को खोलने के बाद, आपको यूजर नेम और पासवर्ड का विकल्प मिलेगा, उस विकल्प में यूजर नेम  नाम और पासवर्ड दर्ज करे। 
  • यूजर नेम नाम और पासवर्ड दर्ज करने के बाद, लॉगिन विकल्प पर क्लिक करें।
  • लॉग पर क्लिक करते ही इंटरनेट बैंकिंग शुरू हो जाएगी।
  • इसके के बाद आपको माय अकाउंट, फंड ट्रांसफर, ई-डिपॉजिट, टॉप अप रिचार्ज, बिल भुगतान, Quick transfer जैसे कई विकल्प दिखाई देंगे।
  • आप इन सभी विकल्पों को अपने उपयोग में ले सकते हैं।

इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करते समय सावधानी बरतें

  • किसी सार्वजनिक स्थान पर और नेट कैफे में, किसी के सामने इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग न करें। 
  • किसी के सामने अपने यूजर नेम और पासवर्ड को अंकित न करें।
  • एकांत में इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करें।
  • अपने यूजर नेम और पासवर्ड को हमेशा गुप्त रखें, किसी को न बताएं।
  • पैसे भेजते समय, खाता संख्या, IFSC CODE और कई अन्य चीजों की पुष्टि करके पैसे भेजें।
  • पासवर्ड हमेशा याद रहे ऐसा रखे और ट्रिक्स पासवर्ड रखें। 
  • इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करने के तुरंत बाद लॉगआउट करें।

 इंटरनेट बैंकिंग के फायदे 

  • इंटरनेट बैंकिंग से बार-बार बैंक जाने की झंझट नहीं है।
  • बैंक की लंबी लाइन में खड़े होने का झंझट दूर हो जाती है।
  • खाते के बारे में सारी जानकारी इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से प्राप्त हो जाती है।
  • खाते के लेन-देन का विवरण आसानी से घर बैठे देखा जा सकता है।
  • किसी भी वस्तु का भुगतान इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से किया जा सकता है।

 AEPS बैंकिंग :- Aadhar Enabled Payment System 

AEPS एक ऐसी बैंकिंग है जिसके पास स्मार्टफोन नहीं है या ऑनलाइन बैंकिंग में विश्वास नहीं है। यह उन लोगों के लिए बनाई गई लेनदेन सेवा है, जिन्हें आधार के माध्यम से तत्काल राशि की आवश्यकता होती है। AEPS बैंकिंग सेवा में आधार कार्ड से राशि निकालने वाले व्यक्ति का फिंगरप्रिंट लिया जाता है।

जानिए AEPS बैंकिंग का उपयोग कैसे करें

  • AEPS बैंकिंग शुरू करने के लिए, सबसे पहले आधार कार्ड को बैंक खाते से लिंक करना होगा।
  • आधार इनेबल्ड करने लिए नजदीकी बी.सी एक्सेस पॉइंट जाये। (Beneficiary customer access point)
  • आपको बीसी एक्सेस प्वाइंट से माइक्रो एटीएम डिवाइस दिया जाएगा।
  • इस माइक्रो एटीएम डिवाइस के जरिए आप फंड ट्रांसफर, कैश डिपॉजिट, विड्राल और बैंक खातों की जानकारी यह सभी सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं।
  • लाभ प्राप्त करने के लिए, बैंक IIN, आधार संख्या और बैंक का नाम बताएं।
  • लेन-देन को पूरा करने के लिए बायोमेट्रिक सिस्टम के माध्यम से फिंगरप्रिंट लिया जाता है। 

AEPS बैंकिंग के लाभ 

  • आप AEPS के माध्यम से किसी भी बैंक से पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं।
  • पैसे निकालने के लिए आपको न तो पिन की जरूरत है और न ही हस्ताक्षर की, केवल आपके फिंगरप्रिंट की जरूरत है।
  • AEPS को एक माइक्रो-एटीएम की आवश्यकता होती है, आप इस एटीएम को कई भी आराम से ले जा सकते हैं।
  • AEPS का उपयोग एक बड़े दुकानदार कर सकता है।
  • बैंकिंग संवाददाता AEPS के माध्यम से दूर के स्थान से भी बैंकिंग सेवा प्रदान कर सकता है।

स्मार्ट कार्ड बैंकिंग :- Smart card banking

स्मार्ट कार्ड डिजिटल बैंकिंग में उपयोग किया जाने वाला एक छोटा लेनदेन वाहन है। इसके जरिये आप किसी भी वस्तु का भुगतान करके आसानी से खरीद सकते हैं। जैसे ऑनलाइन शॉपिंग, यात्रा टिकट, होटल बुक और फाइनेंस आप इस कार्ड के माध्यम से यह सब कर सकते हैं।

स्मार्ट कार्ड बैंकिंग के फायदे 

  • टिकट बुकिंग की लंबी लाइन से छुटकारा पाएं।
  • टिकट बुकिंग की लंबी लाइन से छुटकारा पाएं।किसी भी यात्रा की टिकट को स्मार्ट कार्ड से बुक करने पर कुछ% छूट मिलती है।
  • ऑनलाइन शॉपिंग के बाद, आप आसानी से राशि का भुगतान कर सकते हैं।

मोबाइल बैंकिंग :-  mobile banking

मोबाइल यह हमारे वर्तमान जीवन का एक अभिन्न अंग है। मोबाइल के जरिए हम घर से कई काम आराम से कर सकते हैं। जैसे, मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से घर बैठे सभी बैंकिंग लेनदेन किए जा सकते हैं। मोबाइल बैंकिंग की शुरूआत एसएमएस के माध्यम से की गई थी। लेकिन डिजिटल की दुनिया में सभी लेन-देन अब इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन किए जा रहे हैं। मोबाइल बैंकिंग के लिए कई तरह के ऐप का इस्तेमाल किया जाता है जैसे कि Google पे, UPI, पेटीएम, फोन पे और मोबाइल बैंकिंग क्षेत्र में यह सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाले ऐप है।

मोबाइल बैंकिंग पंजीकरण कैसे करें

  • अब आप MBSREG लिखकर अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर 9223440000 पर भेजें। 
  • इसके बाद एंड्रॉयड मोबाइल में  State Bank Freedom ऐप डाउनलोड और इंस्टॉल करें
  • कुछ समय बाद आपको मोबाइल पर SMS के माध्यम से एक यूजर आईडी और MPIN मिलेगा।
  • स्टेट बैंक फ्रीडम का आवेदन खोलें और यूजर आईडी और MPIN दर्ज करें और लॉग इन करें।
  • लॉग इन करने के बाद, MPIN बदलने का एक विकल्प आया होगा तथा आप अपने पसंदीदा MPIN को रख सकते हैं।
  • अब इस ऐप को बंद करें और इसे फिर से खोलें और अपने नए MPIN के साथ लॉग इन करें। अब आप लॉग इन नहीं होंगे क्योंकि हमारा  जीपीआरएस शुरू नहीं था। 
  • जीपीआरएस शुरू करने के लिए, एक एसएमएस आएगा और उसमें दिए गए निर्देशों के अनुसार आगे बढ़ें।
  • उसमे आपको एक SMS RESEND भेजना होता है जैसे की “MPSC 59655” लिख कर “999999999” पर भेज देना है। 
  • जब आप यह एसएमएस भेजेंगे तो आपका पंजीकरण पूरा हो जाएगा, लेकिन यह सेवा शुरू करने के लिए एटीएम कार्ड की आवश्यकता होगी।

पाठकों के लिए कुछ शब्द
हमें उम्मीद है कि आपको इस लेख के माध्यम से डिजिटल बैंकिंग के बारे में जानकारी मिली होगी। अगर आपको यह लेख पसंद है, तो इस लेख को अपने मित्र के साथ साझा करें ताकि वे डिजिटल बैंकिंग के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकें। यदि आपको इस लेख के लिए कोई सवाल या सुझाव है तो हमे कमेंट करके बताये।

धन्यवाद।

No comments: