Friday, December 28, 2018

सफल होने के लिए हमें कैसे बोलना चाहिए। (Safal hone ke liye hame kaise bolna chahiye .)

सफल होने के लिए हमें कैसे बोलना चाहिए। (Safal hone ke liye hame kaise bolna chahiye .) बात  करने के कौन कौन से तरीके है।(baat karne ke koun koun se tarike hai .)

 बड़े लोगो से हमें कैसे बात करना चाहिए। ( bade logo se hame kaise baat karna chahiye .)How should we speak to Successful? What are the ways to talk?
सफल होने के लिए बोलने का सही तरीका

हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप सब मेरा राज है मैं www.indiandewa.com में लेख लिखता हु हर बार मैंने  इस website पर नए लेख लिखा है। जो की आप सब के लिए बहोत ही लाभदायक रहे है। मैंने स्वास्थ ,पढाई और कुछ exam के बारे में लिखा है और आगे भी लिखता रहूँगा। 

सफल होने के लिए बोलने का सही तरीका 

 नमस्ते दोस्तों हम सब लोग जानते है के हमारे हर एक काम में हमारे जुबान की क्या किम्मत है। हमारी जबान अगर साफसूत्री  हो तो हमारे कोई भी काम हम आसानी ने से पुरे होते है। क्युकी हम सब लोगो को हमारी जुबान की कीमत पता है। जिस व्यक्ति में बोलने की कला होती है वो दुनिया के सामने अपनी बात को प्रभावी तरीके से पेश कर पता है और उसका प्रभाव  इतना गहरा होता है की दुनिया की और से उसे मनमासिक परिनाम भी मिलने लगते है। ऐसे में आप भी चाहते होंगे की बोलने की कला आप में भी विकसित हो जाए जिससे आप बुलंदियों तक आसानी से पहुंच सके तो चलिए आज  जानते है की बोलने की कला को कैसे सीखे। 



बोलने से पहले ऐसे करे तैयारी 

दोस्तों हम सब बहोत अच्छा बोल लेते है पर कुछ ऐसे जगह होते है जहा हम नहीं बोल पाते है। जैसे की हम किसी मीटिंग या प्रेजेंटेशन में जाते है और हमे आगे आकर प्रेजेंटेशन देना होता है। पर हम प्रेजेंटेशन देने के पहले ही बहोत ही ज्यादा नर्वस हो जाते है। अगर हम नर्वस हो गये और हमारा नर्वस पण हम पर ही हावी हो जाये तो हम अच्छे से प्रेजेंटेशन दे नहीं पाते है। अगर हमे बहोत अच्छे से प्रेजेंटेशन देना होंगा तो हमे अपने दिमाग को शांत रख कर और गहरी साँस लेकर प्रेजेंटेशन दे ताकि आगे हमें कोई परेशानी ना हो।हमें ऐसा भरोशा होना चाहिए की हम खुद से कहे की 'ये बहुत आसान है ,और मै ये कर सकता हु। ऐसा हमे अपने मन 5 से 6 बार दोहराए ,और हमे दिमाग और दिल को उत्साह से भरकर रखे ,खुद के मन के अंदर सकारात्मक रखे। अगर हम ऐसा करते है तो हमारा बहुत ही अच्छा प्रदर्शन रहेंगा। 

बोलने के पहले अच्छे से सुने 

दोस्तों हम जब कोई मीटिंग में रहते है तो हमारा ध्यान आगे वाले की बात पर रहना चाहिए। अगर हमारा ध्यान आगे वाले व्यक्ति के बातों पर नही रहेंगा तो ऐसे में हम आगे वाले से सवाल नही कर पायेंगे और ना ही पूछे गये किसी सवाल का सही जवाब नही दे पायेंगे।

बोलने की कला है बहुत आसान 

दोस्तों हम सब को पता है की बोलने की कला बहुत ही आसान होती है। बस हमे इस कला को समझने वाला होना चाहिए। अगर हम यह कला बहुत ही अच्छे से सिख जाते है तो आने वाली कई मुसीबत से बच जायेंगे। जैसे की हम कही मीटिंग में जाते है या फिर कोई सार्वजनिक मंच पर जाते है तो हम अपने विचार धाराओं को आगे की जनता के आंखो में आँख डालकर कर सकते है। अगर हम सब ये कला को सीखना चाहते है तो हमे इन सभी बातो का ध्यान रखना चाहिए। 



बोलने का प्रभाव और तरीका

दोस्तों हम सब जानते है कि हर किसी का बोलने का तरीका और प्रभाव होता है। अगर हमारे भीतर ये कला आ जाए तो हम अपनी बात पूरी दुनिया के बहुत प्रभावी तरीके से रख सकते है। और हमारा इतना प्रभाव इतना गहरा होता है की मनचाहे परिणाम मिलने लगते है। अगर हम  प्रभावदायक बात करेंगे और अपना रहने का तरीका बदलना होंगा ताकि हमारा प्रभाव और रहने का तरीका देखकर बाकी सब चौंक जाए। 

बात करने में घाई न करे 

दोस्तों हम कभी कभी इतना घाई करते है बात करने में की हम क्या बात कर रहे है ये भूल ही जाते है। दोस्तों कई बार ऐसा होता है की लोगो के बिच अपनी पहचान बनाने के लिए हम जल्दी जल्दी में उत्तर देकर हम अपना प्रभाव बनाने की कोशिश करते है ,परंतु हम इसी प्रभाव को बनाने के चक्कर हम बहुत बार गलत उत्तर देते है। जल्दी जल्दी में हमे कुछ सवाल समझ में नहीं आता और हम उस सवाल का उत्तर जल्दी जल्दी में दे देते है। तो हमे अगर सही सही जवाब देने के लिए हमे थोडा समय ले और फिर उस सवाल को समझे फिर उत्तर देना चाहिए। 


 
अगर आपको हमारा यह संदेश अच्छा लगा तो आप हमे टिप्पणी लिखकर भेजे। 
धन्यवाद।    

No comments: