Sunday, July 15, 2018

हमारे जीवन के लिए नीम कितना लाभदायक है । hamaare jivan ke liye neem kitna laabhdaayk hai.

कैसे उपयोगी आता है नीम। ( kaise upyogi aata hai neem ) हमारे जीवन के लिए नीम कितना लाभदायक है। ( hamaare jivan ke liye neem kitna laabhdaayk hai ) गुणकारी नीम का परिचय (gunkaari neem ka parichay ) क्यों कहते है नीम को आयुर्वेदिक दवाई । ( kyo kahate hai neem ko ayurvedik dawai) Introduction to Qualified Azadirachta indica . Azadirachta indica is so profitable for our lives
नीम के पत्ते , फल और नीम तेल के फायदे
.

 हैल्लो दोस्तों आप सब ठीक है न ठीक तो होंगे ही आप सब क्यों हम आपके लिए हर बार कुछ तो नया लेकर आते है जो की आपके सेहत को लेकर के होती है। नीम हमारे पूर्वजो के जमाने से बहुत ही आयुर्वेदिक औषध है। और वह हमारे लिए प्राचीन काल से उपयोगी है। नीम यह औषधी बहुत ही कडवी होती है परंतु बहुत ही गुणकारी होती है। नीम हमारे जीवन में बहुत ही उपयोगी है। नीम यह औषधी दुनिया भर में बहुत मशहूर है।

नीम के बहुत सारे फायदे     ➤


➱हमारे बाल अगर सफ़ेद होते है तो हमे नीम की कुछ पत्ते और बेर के कुछ पत्ते को उबालकर  इन दोनों चीजों के पानी से अपने बाल को अच्छी तरह से धो ले।  और यह कार्य महीना भर जारी रखना उसके बाद आपको उसका परिणाम मिल जाएगा।

➱हमारे बाल में जुआ हुई होंगी तो आप नीम का तेल लगाए इससे बालो में होने वाली जुआ कम होती है।

➱नीम हमारे बालो और त्वचा का तो ध्यान तो रखते ही है। परंतु उसके साथ हमारे ब्लड (blood ) को भी शुद्ध करता है उसके लिए हमे नीम के छाल का काढ़ा बनाके पीना चाहिए।

➱अगर हमारे चेहरे पर दाग होते  तो आप नीम के पत्ते को बारीक़ कर के उसमे दही और मुलतानी मिट्टी मिलाके पेस्ट बनाये और उसका एक फेस पैक बनाके चेहरे पर लगाए और जो दाग हमारे चेहरे पर है वह चले
जायेंगे।

➱दोस्तों हमारे हात और पैरो को बहुत पसीना आता है।  और हम बहुत ही परेशान हो जाते है तो उसके लिए बहुत ही उपायकारक दवाई है।  वह दवाई है नीम का तेल बनाके हात और पैरो को लगाना तो उससे आपको आराम मिलेंगा।

➱फ्रेंड्स हमारे चेहरे पे मुरुम होते है और वह जाते ही नहीं उसके लिए हम बहुत से उपाय करते है पर वह मुरुम जाते ही नहीं। मुरुम के लिए सही गुणकारी उपाय एक ही है और वह है नीम। गर्मियों में  नीम के फल का तेल लगाने से बहुत ही उपायकारक होंगा।  चेहरे पर पुराने दाग और धुप से गिरे हुए दाग को हमे निकालने के लिये हमे नीम के फल का तेल बनाके हमे उसे अपने चेहरे पे लगाना चाहिए।

➱हमे अगर बुखार या टायफाईड होता है तो नीम ही बहुत लाभदायक दवाई है।  नीम के 20 से 25 पत्ते और काली मिरी को एक कपड़े में बांध कर आधे लीटर पानी में उबाले और पानी के बर्तन के उप्पर अच्छे से ढ़ाके।  उस पानी को ठंडा होने दे और फिर उस पानी को चार हिस्से में बाट ले और उसे सुबह और शाम को दो दिन तक पियो फिर आपको उसे पीकर आपकी तबियत ठीक हो जायेंगी।  कुष्ठरोग पर भी बहुत ही असरकारक है नीम इस रोग पर भी उपचार होता है।
 
➱दोस्तों हमारी तबीयत ठीक होती है परंतु हमारे शरीर में कमजोरी होती है।  तो हमे नीम के तेल को हमारे हात और पैरो में लगाने से हमारे शरीर की कमजोरी दूर हो जाएँगी।

➱हमारे दांत के लिए भी बहुत ही लाभकारी है नीम , नीम की दातुन बनाके हम उसे दांत साफ़ करने में उपयोगी बना सकते है। तो आप घर पर ही नीम का मंजन बना सकते है आप उसमे जली हुई सुपारी , जली हुई बदाम की छाल , 100 ग्राम खड़ु ,20 ग्राम बेहड़ा , थोड़ीसी मीरपुड़ डाले , 5 ग्राम लवंग , 1 ग्राम पिपरमेंट को बारीक कर के उन सबको मिलाकर उसका मंजन बना ले। और दांत की सभी समस्या दूर हो जाएँगी।

➱हमारे कान में अगर कीड़ा चला जाये तो हमे नीम का रस बनाके उसे हल्का सा गर्म करे और फिर उसमे चिमटी भर नमक डाल दे।  कान में बूंद बूंद डाले तो आपको उससे बहुत ही आराम मिलेंगे और वह कीड़ा कान के बाहर आ जाएगा।

➱अगर आपके आँख में जलन या मोतियाबिंदु की तकलीफ हो रही होंगी तो आप नीम के तेल को  अपने आँख में  थोड़ा थोड़ा डाले तो आपको बहुत ही आराम मिलेगा। अगर आपकी आँख में सूजन होंगी तो नीम के पत्तो का लेप बनाये। बाये आँख सूजन होंगी तो आप अपने दाए पैर के अंगूठे में नीम के पत्ते का लेप लगाए। तो आँख की सूजन कम हो जाएँगी और आँख लाल होंगी तो उसे भी आराम मिलेगा।

➱अगर आपका पेट खराब हो तो आप नीम के फल को खाले तो आपका पेट साफ़ हो जाएंगा ,ब्लड अच्छे से  शुद्ध हो जाएगा और भूक भी अच्छी लगती है। हम बाशी खाना खाते है तो हमे उलटी होती है और पित्त बढ़ते है तो हमे नीम की छाल , सुठ,  मिरेपुड इन सभी का मिश्रण बनाके इसे रोज आठ दस ग्राम सुबह और शाम पानी में मिला के लेना चाहिए।

➱सर्दी , खाँसी हुआ होंगे आपको तो आप नीम के पत्ते को शहद के साथ खले तो आपको हूत जल्दी आराम हो जाएंगे। सौ दुःखो की एक दवा और वो है नीम का रामबाण उपाय।

अगर आपको हमारा यह सन्देश अच्छा लगा तो आप हमे टिप्पणी (comments ) लिखकर भेजे। 
धन्यवाद।                                         

No comments: