Friday, July 13, 2018

अपने बच्चो को सही राह देने के लिए क्या करना चाहिए। ( apne bachho ko sahi rah dene ke liye kya karna chahiye )

कैसे बनाना चाहिए अपने बच्चो को स्मार्ट। ( kaise banana chahiye apne bachho ko smart ) अपने बच्चो को सही राह देने के लिए क्या करना चाहिए। ( apne bachho ko sahi rah dene ke liye kya karna chahiye )  स्कूल जाने के लिए अपने बच्चो को कैसे कराये सावधान। (school jane ke liye apne bachho ke kaise karaye saavdhan )What to do to give your children the right path.
bachho ko kaise banaaye smart

हेलो दोस्तों कैसे हो आपसब आज मैं आप सबको आपके बच्चो के बारे में कुछ ख़ास बाते बताने वाला हु। जो की आज कल के पेरेंट्स के लिए छोटीसी परेशानी बन गयी है। बच्चो की स्कूल की छुट्टिया तो आकर के जल्दी से खत्म जाती है  और हमे पता भी नहीं चलता। स्कूल खुलने से बच्चो के साथ -साथ माता पिता की भी भागदौड़ सुरु हो जाती है। स्कूल खुलना मतलब बच्चो के बैग तयार करना ,किताबे ,टिफिन ,स्कूल ड्रेस ,शूज ,इन सभी सभी चीजों का की तयारी करवाना ।
इन सभी बातो  में हम सबसे महत्त्वपूर्ण बात तो  भूल जाते है। जो की आज के दौर में सबसे बड़ी जिम्मेदारी है। हर माता पिता ने सबसे पहले बच्चो को हमें ट्राफिक के बारे में बताना चाहिए।  ट्राफिक नियमो के बारे में बताना चाहिए और उन्हें जागरूक करवाना चाहिए।

 आगे हम जानेंगे   ट्राफिक के बारे में

सुरक्षा एव नियमो के बारे में अवगत कराए  ➤

 सभी माता पिता और स्कूल  टीचर्स ने स्कूल के बच्चो को सुरक्षा नियमो को करना चाहिए ऐसा बताये।  बच्चे अगर पैदल जाये या फिर गाड़ी जाये , बस से जाये बच्चो को हमेशा पता होना चाहिए की गाडी में कैसे बैठे या फिर कैसे बैठना चाहिए। अगर बैठ रहे है तो बेल्ट लगाकर बैठना चाहिए ये बताना चाहिए , अगर सड़क  करना है तो सिग्नल देखकर पार करना चाहिए। 
 साथ ही बच्चो को लाल , हरी और पिली बत्ती के बारे में अच्छे से समझाना चाहिए।  अगर आपके बच्चे 10 साल से क़म उम्र के है तो आप उन्हें अकेले सड़क पार करने ना दे। अगर आपके बच्चे बस से स्कूल जा रहे है तो आप अपने बच्चे को स्कूल बस तक छोड़ने जाना चाहिए।  और अपने बच्चो को समझाये की हमेशा सड़क के किनारे से चले , सिग्नल को देखकर और ज़ेब्रा क्रॉसिंग पर से ही चले सड़क पार करने के बारे में बताये। 

रोड पर दौड़ न लगाए   ➤ 

आप अपने बच्चो को रोड के बारे में  अच्छे से समझाये।  रोड पर चलते समय मस्ती , मजाक में दौड़ न लगाए , जब स्कूल बस से उतर कर के रोड पार कर रहे होते है तो बस के कंडक्टर ने बच्चो को रोड पार कर देना चाहिए।  साथ ही कार पार्किंग के बीच से  दौड़ न लगाए।  बच्चो के साथ -साथ ड्राइवर के लिए भी खतरनाक साबित हो सकता है।

एक ही रुट से चलने को कहे  ➤

  ध्यान में एक बात रखे की आप अपने बच्चो को  एक ही रुट से चलने के बारे में बताये और वह रास्ता उन  बच्चो के  लिए सही होना चाहिए।  उन्हें ऐसे रास्ते से भेजे जहा से सड़क पर कम से कम क्रासिंग हो ताकि उन्हें बार बार सड़क पार न करनी पड़े।  और आपके बच्चे सुरक्षित स्कूल पहुंच सके। 

गाडी या बस में अधिक भार से बचे    ➤

बच्चो को बताये की बस से उतरने के बाद हमेशा बस के सामने से ही जाये ताकि ड्राइवर उन्हें जाते हुए देख सके।  बस में या फिर गाडी में अधिक भार भरने से मना करे क्यों की कोई परेशानी ना हो बच्चों को और वह आराम से बैठ सके।

अजनबियों से सावधान रहे   ➤

अपने बच्चो को बताये की किसी भी अजनबी से दूर रहे। और उन्हें की समझाए की किसी अजनबी के पास से चॉकलेट , फल , मिठाई ,बिस्किट अथवा कोई भी वस्तु ना ले क्यों की उन सब चीजों में वह व्त्यक्ति कुछ भी मिला सकते है। और अजनबी व्यक्ति के साथ कही नहीं जाये ये बताये।

इलेक्ट्रिक गॅजेट देने से मना करे    ➤

आज के डिजिटल दुनिया के बारे में हम बहोत अच्छे से जानते है। आज के इस डिजिटल दौर में हम अपने बच्चो को गलत चीजों की लत लगा देते है। जैसे की वीडियो गेम्स , मोबाइल और लैपटॉप यह सभी चीजे  बच्चो के हाथ  में देने से बच्चे जिद्दी और गुसैल बन जानते है। इसलिए बच्चो को इन सभी चीजों से दूर रखे ताकि स्कूल में जाते समय रास्ते से चलते चलते वीडियो गेम्स और मोबाइल पर बाते करना।  और स्वयं के लिए खतरे को आंमत्रण देना।  इन सभी चीजो को ध्यान में रखते हुए बच्चो को इन सभी चीजों से दूर रखे।

हेलमेट का इस्तेमाल   ➤

अगर आपके बच्चे स्कूल या फिर कॉलेज स्कूटी या बाइक से जा रहे है ,तो उन्हें रुट रूल्स  जरूर बताये और सिग्नल क्रासिंग के रूल्स के बारे में जरूर समझाये। साथ ही हेलमेट के इस्तेमाल के बारे जरूर बताये ताकि वह ट्राफिक पुलिस से बचे और अन्य आनेवाली चीजों से एक और बात जो की महत्वपूर्ण है हमारे बाइक पर दो व्यक्ति के आलावा तीसरा व्यक्ति को नहीं बैठाना चाहिए। और साथ में ड्राइविंग लाइसेंस भी रखे।

बच्चो को कीमती चीजे न दे    ➤

 इस भागदौड़ भरी ज़िंदगी में हम बच्चो को दुनिया की सारी  खुशिया देना चाहते है। लेकिन हम उस खुशियों को आमंत्रण देते है। क्यों की सभी जानते है की बच्चे को सोने के लॉकेट , चैन , अंगूठी बहोत कीमती चीजे  देते है। और सभी जानते है की इस दुनिया में कई तरह के लोग रहते है जैसे की चोर ,लुटेरे भी बहोत है। इसलिए बच्चो को  कोई भी किसी तरह की कीमती चीजे ना दे ताकि आपकी खुशियों को किसी की नजर ना लगे।

बस के ड्राइवर  कंडक्टर से भी बच्चो को अवगत कराये   ➤

अगर आपके बच्चे स्कूल बस  पे जाते है तो  आप अपने बच्चो को ड्राइवर कंडक्टर से कॉन्टेक्ट बनाये रखने को बताये और उनकी सारी डिटेल्स लेकर रखना चाहिए जैसे की आधार कार्ड , इलेक्शन कार्ड और इलेक्ट्रिक बिल , घर का पता लेकर रखे। अपने पास और  अपने बच्चे के पास भी सभी जानकारी देना चाहिए। ताकि आप के बच्चे सुरक्षित रहे।

स्कूल के टीचर्स स्टॉफ को भी इन सभी बातो से अवगत कराये     ➤

उपर दी गयी सभी चीजों के बारे में स्कूल के स्टॉफ को समझाए ताकि बच्चा स्कूल पोहचने के बाद सुरक्षित हो टीचर्स को यह भी बताये की बच्चो की अटेन्डस दो बार ले एक सुबह और एक अटेन्डस पूरी छुट्टी होने  के पहले ले साथ ही टीचर्स और का कॉन्टेक्ट नंबर भी ले ताकि टीचर्स और आपको कोई परेशानी का सामना न करना पड़े।

 

अगर आपको हमारा यह संदेश अच्छा लगा तो आप हमे टिप्पणी ( comments ) लिखकर भेजे। 

धन्यवाद।  

No comments: